Event

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव व दिल्ली प्रभारी चौ. बीरेंद्र सिंह ने आज राजीव गांधी के साथ बिताए क्षणों को बड़े ही भावुक अंदाज में दिल्ली वालों के साथ बांटा। उन्होंने कहा कि जब एलटीटीई ने सिर उठाया हुआ था और उसे रोकने के लिए अमेरिका और इजराइल जैसे देश श्रीलंका में अपना अड्डा बनाना चाहते थे। उस समय पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी ने वहां शांति सेना भेज कर अपने देश को मजबूत बनाने का काम किया। और इसी की कीमत उन्हें अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। बीरेंद्र सिंह आज रोहिणी इलाके में सामाजिक संस्था उदघोष द्वारा स्व. राजीव गांधी के जन्मदिवस पर आयोजित रक्तदान शिविर में मौजूद हजारों लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर उदघोष के चेयरमैन विजेंद्र जिंदल, दिल्ली के वरिष्ठ कांग्रेस नेता ब्रह्म यादव, चतर सिंह, जगदीश यादव, आर के गुप्ता, मोहन बंसल, राजेश गर्ग, अनूप शौकीन, सतीश गुप्ता, अनिल पालीवाल, अनिल सिंगला, विजय गुप्ता, राकेश छिकारा, राजकुमार दहिया, रेनू बजाज, संजय गर्ग, गगन जिंदल, मुनीलाल गर्ग नवीन, संजीव वर्मा व कई समाजसेवी व कार्यकर्ता मौजूद थे। चौ. बीरेंद्र सिंह ने कहा कि गांधी परिवार का बलिदान देश में इतिहास रहा है। इंदिरा जी का बलिदान, राजीव गांधी जी के बलिदान का शिरोमणि इतिहास रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की मजबूती ही देश की मजबूती है। जब-जब कांग्रेस कमजोर हुई है देश कमजोर हुआ है। चौ. बीरेंद्र सिंह ने रोहिणी में भी कांग्रेस को मजबूत करने पर उदघोष के चेयरमैन और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव विजेंद्र जिंदल और उनकी टीम की जमकर तारीफ की। साथ ही उन्होंने रक्तदान शिविर के आयोजन में मुख्य भूमिका निभाने वाली उदघोष एनजीओ और अंबेडकर अस्पताल की टीम की जमकर तारीफ की।